डीवीसी विद्युत क्यों ?

वाणिज्यिक विज्ञापन डाउनलोड करें

 

प्रतियोगितात्मक शुल्क

माननीय जेएसईआरसी के आदेश दिनांक 04.09.2014 के अनुसार 1 सितम्बर, 2014 से झारखंड में प्रयोज्य शुल्क

उपभोगता संवर्ग ऊर्जा प्रभार (रु./किवाघं) मांग प्रभार

(रु./केवीए/माह)

हाई टेंशन (एचटी) उद्योग 33

केवी पर

4.05 410
हाई टेंशन (एचटी) उद्योग 132

केवी पर

3.60 410
हाई टेंशन (एचटी) उद्योग 220

केवी और अधिक पर

3.55 410
कर्षण 132 किवो पर 2.40 410

तत्काल भुगतान पर छूट, शुल्क आदेश के अनुसार विलंबित भुगतान पर बिलिंग डिमांड तथा ब्याज प्रयोज्य है ।

 

माननीय डब्ल्यूबीईआरसी द्वारा फुटकर शुल्क के निर्धारण तक पश्चिम बंगाल में प्रयोज्य शुल्क (19.01.2015 को)

 

क्षमता प्रभार (पैसे/किवाघं) घटता-बढ़ता ऊर्जा प्रभार

(पैसे/किवाघं)

 

कुल प्रभार (पैसे/किवाघं)
184.39 234.50 418.89

 

ऑन डे अहेड सिड्यूलिंग मोड़ लाभभोगियों हेतु शुल्क

  • संबंधित उत्पादन केन्द्र से विद्युत अनुसूची द्विपक्षीय पीपीए की शर्तों द्वारा मार्गदर्शित होगी ।
  • सीईआरसी द्वारा यथा निर्धारित डीवीसी नेटवर्क हेतु उत्पादन शुल्क व पारेषण शुल्क प्रभारित किये जाएंगे ।
  • भावी उत्पादन केन्द्रों से लाभभोगियों, जिनके लिए आज तक सीईआरसी द्वारा कोई शुल्क आदेश नहीं हैं, अवधि 2009-14 हेतु वांछित सीईआरसी विनियमन के अनुसार अनंतिम शुल्क, सीईआरसी द्वारा शुल्क के निर्धारण के बाद समायोजन के अध्यधीन लागू किया जाएगा ।

 

स्थिर, विश्वसनीय व गुणवत्ता विद्युत

 

दो स्रोतों (पनबिजली व तापीय), समीपवर्ती प्रणाली सहित पारेषण प्रणाली अंतरसंबद्ध योजक लाइनों का एक विशाल नेटवर्क तथा विनियामक मानकों की शर्तों पर स्थिर, विश्वसनीय तथा गुणवत्ता विद्युत सुनिश्चित करने के लिए विद्युत आपूर्ति बाबत समर्पित फीडर सहित युग्मित पावर ग्रिड ।

 

त्वरित व सक्षम प्रणाली

 

मुख्य अभियंता (वाणिज्यिक), डीवीसी, कोलकाता के कार्यालय में उपभोक्ता शिकायतों के निवारण हेतु एकल खिड़की प्रणाली विद्युत आपूर्ति बाबत सेवा कनेक्शन प्राप्त करने के लिए सहज प्रक्रिया का सुनिश्चियन ।

 

विद्युत आपूर्ति तथा पारेषण लाइनों में किसी प्रकार की बाधा आने पर पारेषण व वितरण प्रणाली व उत्पादन केन्द्र को डीवीसी का प्रचालन व अनुरक्षण स्कंध त्वरित एवं सक्षम सेवाएँ प्रदान करता है ।