डीवीसी अधिनियम

1948 का अधिनियम सं. XIV

 

(27 मार्च, 1948 को अधिनियम को गर्वनर जनरल की स्वीकृति प्राप्त हुई)

 

बिहार तथा पश्चिम बंगाल राज्यों में दामोदर घाटी के विकास हेतु निगम की संस्थापन तथा विनियमन प्रावधानित करने के लिए एक अधिनियम ।

 

जैसा कि बिहार और पश्चिम बंगाल प्रांतों में दामोदर घाटी के विकास हेतु निगम की संस्थापन और विनियमन प्रदान करने के लिए यह समीचीन है ।

जैसा कि भारत सरकार अधिनियम, 1935 (26 जीओ, 5, सी, 2), की धारा 103 के अनुसरण में, राज्य विधानमंडल तालिका में इस अधिनियम के अंदर क्रियान्वित कतिपय मामले जो प्रांतीय विधायी तालिका में यथा उल्लिखित हैं उक्त प्रांतों के प्रांतीय विधान मंडलों के सभी चैम्बरों द्वारा संकल्प पारित किये गये हैं, डोमिनयन विधानमंडल के अधिनियम द्वारा उन प्रांतों में विनियमित किये जाने चाहिए ।

डोमिनियन विधानमंडल के अधिनियम द्वारा प्रांत

यह एतद्द्वारा अधिनियमित किया जाता है जो निम्नानुसार है :-

 

भाग I – प्रस्तावना

भाग II – निगम की संस्थापना

भाग III – निगम के कार्य और शक्तियां

भाग IV – वित्त, लेखा, लेखा-परीक्षा

भाग V – विविध

 

अनुसूची

 

डीवीसी अधिनियम एवं सेवा विनियमन (अंग्रेजी) डाउनलोड

डीवीसी अधिनियम एवं सेवा विनियमन (हिन्दी) डाउनलोड

डीवीसी अधिनियम 1948 राजपत्र अधिसूचना डाउनलोड

डीवीसी संशोधन अधिनियम 2011 राजपत्र अधिसूचना