पारेषण

You are here:

विद्युत संसाधन संपन्न दामोदर घाटी क्षेत्र में औद्योगिक विकास हेतु एक महत्वपूर्ण  निवेश प्रावधानित करने की जिम्मेदारियों से प्रतिबद्ध, डीवीसी ने विगत 66 वर्षों से एक बड़ा पारेषण ग्रिड नेटवर्क विकसित किया है । साथ ही, घाटी क्षेत्र में फैले अपने उपभोक्ताओं की सेवा तथा विद्युत कमी वाले अन्य क्षेत्रों को विद्युत निर्यात करने के लिए इसने अपना 132 किवो, 220 किवो एवं 400 किवो ग्रिड का विस्तार किया है। डीवीसी ग्रिड 132 किवो, 220 किवो तथा 400 किवो योजक लाइनों के माध्यम से पूर्वी क्षेत्रीय ग्रिड से करार कर प्रचालनरत है । डीवीसी के सभी विद्युत केन्द्र एवं उपकेन्द्र डीवीसी ग्रिडों से जुड़े हैं । डीवीसी के विद्युत उपभोक्ताओं को 25 किवो, 33 किवो, 132 किवो तथा 220 किवो वोल्टेज स्तर पर विद्युत की आपूर्ति की जाती है । 2016-17 विद्युत परिदृश्यों के समनरूप उत्पादन के 12वीं योजना प्रक्षेपित भार व शून्यीकरण पर विचार करते हुए, डीवीसी ने 12वीं मास्टर योजना के अधीन पारेषण प्रणाली संवर्धन कार्य अपनाया है ।